Kanhiya Mittal Jagran Fees 2022

Kanhiya Mittal Jagran Fees 2022 Chandigarh, India. Kanhiya Mittal Fees Talking About This. प्रचार करना खाटूश्यामजी और सालासर बालाजी kanhiya mittal program list.

कन्हैया मित्तल फीस 2022. Public Figure. जय श्री श्याम 👇🏻 एक प्रयास आपको श्याम जी से और श्याम जी को आपसे जोड़ने का New Bhajan On KanhiyaMittalEntertainments.com 👇🏻

कान्हिया मित्तल जी भारत के एक प्रसिद्ध और सबसे कम उम्र के भक्ति गायक हैं। उन्हें भजन “जो राम को लये हैं” के लिए भी जाना जाता है। कान्हिया मित्तल को भक्ति गायन के लिए 2020 में “दिव्य सम्मान” पुरस्कार मिला है।

कई प्रसिद्ध हस्तियां उनके विभिन्न धार्मिक कार्यक्रमों में अतिथि के रूप में दिखाई देती हैं। माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी, उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी और उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कान्हिया मित्तल की गायन प्रतिभा की सराहना की है।

उनकी यात्रा 12 साल की उम्र और युवा उम्र में शुरू हुई थी। Kanhiya जी का जनम (Kanhiya Mittal date of birth) September 21, 1988 में श्री गंगा नगर में हुआ। आज की तारीख में 4 अप्रैल को (Kanhiya Mittal Age) कन्हैया मित्तल की उम्र 32 साल है।

कन्हैया मित्तल परिवार – Kanhiya Mittal Family

उन के पिता जी एक व्यापारी थे | और उन के पिता जी को भवगान पर भरोसा नही था | तोह पिता जी हमेसा एक ही बात बोलते थे की इंसान का धर्म – कर्म है |

उन की माता जी घर पत्नी (House Wife) थी | कन्हैया मित्तल के बचपन का नाम (Kanhiya Mittal’s childhood name) कृष्ण मित्तल है।| पिता जी हमेशा Kanhaiya Mittal जी को बोलते बेटा आप कुछ मत करो | हमेशा टेंशन फ्री रहो |

Kanhiya Mittal Wife: ( कान्हिया मित्तल पत्नी )

कान्हिया मित्तल जी की पत्नी का नाम महक मित्तल है और वह बठिंडा से है। उनके दो लड़के हैं, बड़े बेटे का नाम श्याम और छोटे बेटे का नाम तेजस है। कन्हैया मित्तल का एक भाई है जिसकी शादी हो चुकी है और वे भी उसके साथ रहते हैं.

7 साल से गा रहे हैं खाटू श्याम और बालाजी के भजन

Kanhiya Mittal

Image for demo purpose from Bhajan Singing Competition for classes III-V – Satykaam International School (satyakaam.edu.in)

जब Kanhiya Mittal जी 7 साल के हुए तब उन के घर वाली गली में जागरण हो रहा था और सभी परिवार को उस जागरण में निमंत्रित थे | तभी जागरण के मंडली से किसी ने बोला की कोई गाना चाहता है |

तोह वो आ जाए तभी तभी Kanhiya Mittal जी के माता जी ने उन को धमकाया दिया और बोले की बेटा जाओ और एक भजन गाओ | तभी Kanhiya Mittal जी माता जी का आशीवाद लेते हुए स्टेज पर गए और एक भजन गाया जिस से किर्तन के मंडली वाले बहुत खुश हुए |

पेशे से ठेकेदार कन्हैया केवल 7 साल की उम्र से खाटू श्याम और बालाजी के भजन गाते आ रहे हैं।

इतना मशहूर होने के बाद भी वे भगवान राम को अपना आदर्श मानते हैं। कन्हैया का कहना है कि उनके मामा सुरेंद्र अग्रवाल की भजन मंडली है। बचपन से उन्हें भजन गाते और लिखते हुए देखा। तभी से उनका संगीत के प्रति रुझान बढ़ता चला गया। वे मूलरूप से राजस्थान के श्रीगंगानगर के रहने वाले हैं और वर्तमान में चंडीगढ़ में रह रहे हैं।

Kanhiya Mittal Biography In Hindi: ( कन्हैया मित्तल बायोग्राफी )

कन्हैया मित्तल जी कहते हैं कि उन्होंने 2015 में कीर्तन करना बंद कर दिया था। कन्हैया मित्तल जी कहते हैं कि उन्होंने 3 जनवरी, 2016 में ‘हारा हू बाबा पर तुझे भरोसा है‘ नामक अपना पहला भजन लिखा था।

उन्होंने 26 जनवरी को सूरत में एक बड़े कार्यक्रम में प्रदर्शन किया जिसने उनके जीवन को बदल दिया। उन्होंने कहा कि इसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

मित्तल ने अपने करियर की शुरुआत भारत में एक परोक्टेशन के रूप में की थी। वह आमतौर पर भक्ति गीतों और विशेष रूप से खाटू श्याम गीतों के लिए जाने जाते हैं। उनके कुछ लोकप्रिय भजनों में “चस्का श्याम की यारी का, भगवा लेहरायेंगे, सावरे तेरी ज़रुरत है और डंके की छोट पे” शामिल हैं।

Kanhiya Mittal Jagran Fees 2022 | कन्हैया मित्तल फीस:

कान्हिया को अपने जुनून को आगे बढ़ाते हुए लगभग 18 साल हो गए हैं। उनकी यात्रा 12 साल की उम्र और युवा उम्र में शुरू हुई थी। कई प्रसिद्ध हस्तियां उनके विभिन्न धार्मिक कार्यक्रमों में अतिथि के रूप में दिखाई देती हैं। माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी, उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी और उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कान्हिया मित्तल की गायन प्रतिभा की सराहना की है।

2022 में उन्होंने वाइनेट मीडिया के लिए कलाकार सह राजनेता मनोज तिवारी के साथ एक लोकप्रिय हिंदू गीत “भगवा रंग चढने लगा है” रिकॉर्ड किया।

उन्हें भजन “जो राम को लये हैं” के लिए भी जाना जाता है। कान्हिया मित्तल को भक्ति गायन के लिए 2020 में “दिव्य सम्मान” पुरस्कार मिला है।

जो राम को लाए हैं, हम उनको लाएंगे….जानें कौन हैं BJP के लिए वायरल सॉन्ग बनाने वाले कन्हैया मित्तल

In this biography of Kanhaiya Mittal, आपने जाना की कैसे उन्होन अपना पहला भजन गया और उनकी फैमिली में कौन-कौन है और उनकी पत्नी का क्या नाम है उनके भाई क्या काम करते हैं और वह एक लाइव शो के लिए कितने पैसे चार्ज करते हैं और कैसे अपने कैरियर की शुरुआत की

आईए अब उनके बारे में कुछ और जनता हैं जैसे की social media कौन से हैं और कितने उनके फॉलोअर्स हैं कितने उनके वीडियो हैं और उनके सोशल प्रोफाइल लिंक क्या है.

कन्हैया मित्तल लोकप्रिय भजन – Kanhaiya Mittal Ke Bhajan

1. Chaska Shyam Ki Yaari Ka
2. Bhagwa Lehrayenge
3. Saware Teri Zarurat Hai
4. Mera To Sahara Shyam Tu Hai
5. Rangli Rangli Chunariya Tere Naam Balaji
6. Hara Hu Saath Nibhao Na Baba Haare Haare
7. Khatu Ji Jaane Ko Jee Lalchata Hai
8. Subah Subah Jab Bhi Meri Aankhein Khulti Hai Bhajan
9. Danke Ki Chot Pe
10. Tum Na Kabhi Badalna Mere Sawariya Sarkar
11. Main Shyam Diwana Ho Gaya Aur Kya Chahiye

Kanhiya Mittal Jagran Fees 2022

Kanhiya Mittal Jagran Fees RS.3.5Lak, Chandigarh, India. 26308 likes · 3996 Talking About This. प्रचार करना खाटूश्यामजी और सालासर बालाजी Jagran Fees.

Kanhiya Mittal Youtube Channel

Jai Shree Shyam…. Welcome to Official Channel of Kanhiya Mittal, Chandigarh Wale. Kanhiya Mittal Entertainments Youtube Channel 1st Video Uploaded is हारे हारे तुम हारे के सहारे – Kanhaiya Mittal Superhit Shyam Bhajan.

If You Like this Bhajan Video Don’t Forget To Share With Others & Also Share Your Views in comments.

Read Also:- Khatu Shyam Mandir Contact Number

Tags:- Kanhiya Mittal Fees, Kanhiya Mittal Jagran Fees, Kanhiya Mittal Jagran Fees 2022, kanhaiya mittal ji ka phone number, kanhaiya mittal today live, kanhiya mittal age, Kanhiya Mittal Biography in Hindi, Kanhiya Mittal House, Kanhiya Mittal Jagran Fees, Kanhiya Mittal Net Worth, kanhiya mittal program list, kanhiya mittal program list 2022, Kanhiya Mittal Wife, कन्हैया मित्तल फीस.

Kanhiya Mittal FAQ:-

Kanhiya Mittal Ji का जन्म कब और कहा हुआ?

Kanhiya Mittal जी का जनम 1988 में श्री गंगा नगर में हुआ.

Kanhiya Mittal Ji ने जागरण कोनसे साल से सुरु किया?

सन 1997 बचपन में 7 साल की उम्र से सुरु किया.

Kanhiya Mittal Ji कब फ्री में किर्तन करवाते है?

(हर मंगलवार को).

Kanhiya Mittal Ji का मनपसंद जगह कोन सा है?

सालासर बालाजी महराज.

Kanhiya Mittal Ji ने पहला भजन कोन सा गाया था?

पहला भजन (हारे हारे) लिखा और जागरण में गाया (जय बाबे की बोलो, बाबे का बडा नाम है) और (भर दे श्याम).

Kanhiya Mittal Ji हर साल बाला जी कब जाते है?

31 दिसम्बर से 1 january ( हर नए साल पर ).

Kanhiya Mittal Ji का मार्गदर्शक कोन है?

(सालासर धाम पुजारी जी).

Kanhiya Mittal Ji साहब का मोबाइल नंबर क्या है?

(9205945795).

Kanhiya Mittal Ji की वाइफ कहा के रहने वाले है?

(बरिन्दा से है).

Kanhiya Mittal Ji ने कितने साल जागरण फ्री में किया है?

15 साल तक Free किर्तन किया.

खाटू श्याम जी दर्शन चालू है क्या?

कल से खुलेगा खाटूश्याम मंदिर:ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के जरिए ही कर सकेंगे दर्शन; माला, प्रसाद और दंडवत पर रहेगी रोक मंदिर में लॉकडाउन के बाद से भक्तों प्रवेश निषेध हो गया था। श्याम भक्तों के लिए अच्छी खबर है। बुधवार से खाटूश्याम मंदिर में दर्शनों के लिए खुलने जा रहा है।

खाटू श्याम मंदिर कब खुलेगा 2022?

राजस्थान के सीकर जिले के खाटू कस्बे में स्थित खाटूश्यामजी मंदिर का लक्खी मेला 2022 इस बार 6 मार्च से शुरू होगा, जो 15 मार्च तक चलेगा। इसे खाटू फाल्गुन मेला भी कहा जाता है।

खाटू श्याम कौन से जिले में पड़ता है?

राजस्थान के सीकर जिले में स्थित देश के प्रसिद्ध खाटूश्याम मंदिर भक्तों के लिए खोला गया.

खाटू श्याम रजिस्ट्रेशन कैसे होगा?

बाबा खाटू श्याम जी के ऑनलाइन दर्शन के लिए पंजीकरण कैसे करें?

1. दोस्तों Khatu Shyam Ji Darshan हेतु यदि आप अपना पंजीकरण कराना चाहते हैं तो आपको नीचे दी गई इस वेबसाइट पर अपना पंजीकरण कराना होगा इसके लिए आपको सबसे पहले इसकी ऑफिशल वेबसाइट को shrishyamdarshan.in ओपन करना होगा |

2. इसके ओपन होने पर मुख्य पेज प्रदर्शित होगा |

जयपुर से खाटू श्याम कितने किलोमीटर पड़ता है?

जयपुर से खाटू श्याम मंदिर की दूरी 80 किलोमीटर है। रिंगस से श्याम मंदिर की दूरी लगभग 18 किलोमीटर है। दिल्ली से खाटू श्याम मंदिर की दूरी से 266 किलोमीटर है।

खाटू श्याम मंदिर कैसे जाएं?

खाटूश्याम मंदिर कैसे पहुंचे ( Khatu Shyam Temple ) जाने खाटू श्याम मंदिर के मुख्य मार्ग श्रीखाटूश्याम जी का मंदिर राजस्थान के सीकर जिले में स्थित है. जो कि रींगस टाउन से 18 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है जो कि सीकर व जयपुर हाईवे के बीच स्थित है. रिंगस खाटू श्याम मंदिर के निकटतम रेलवे स्टेशन है.

खाटू श्याम जाने के लिए कौन से स्टेशन पर उतरना पड़ेगा?

रेलवे ने करनाल के श्रद्धालुओं की यात्रा को आसान बनाने के लिए चंडीगढ़ बांद्रा सुपरफास्ट का ठहराव धाम के सबसे नजदीक लगते स्टेशन श्री माधोपुर में किया है। अब यहां के लोग भी खाटू धाम जा सकेंगे।

खाटू श्याम को हारे का सहारा क्यों कहते हैं?

ऐसे कहलाए खाटू श्याम

तब श्रीकृष्ण ने उन्हें वरदान दिया कि तुम सृष्टि के अंत तक अमर रहोगे। तुम्हारे बाण से बिंधा मेरा यह पैर ही अब मृत्यु का कारण बनेगा जो मेरा प्रायश्चित भी होगा। तुम अब मेरे ही नाम से खाटू श्याम कहलाओगे। इसलिए आज बाबा हारे का सहारा नाम से संसार में पूजे जाते हैं।

खाटू श्याम बाबा का कौन सा दिन होता है?

श्याम बाबा की जयंती | Khatu Shyam Janam din. श्री खाटू श्याम बाबा जी का जन्मोत्सव हर साल कार्तिक महीने में शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को मनाया जाता है। इस अवसर पर राजस्थान में सीकर स्थित श्याम बाबा मंदिर में लाखों संख्या में भक्तों की भीड़ उमड़ती है।

श्याम बाबा का जन्मदिन कब है 2022?

Khatu Shyam Birthday Date – Baba Shyam Janmotsav 2022. बाबा श्याम का जन्मोत्सव 4th November शुक्रवार को मनाया जाएगा। अपने ईष्ट का जन्मदिन मनाने और दो दिवसीय मासिक मेले में शामिल होने के लिए लाखों श्रद्धालु खाटू पहुंच रहे हैं। जन्मोत्सव पर भक्त अनेक प्रकार के केक का भोग लगाकर बाबा श्याम को जन्मदिन की बधाई देंगे।

खाटू श्याम जी के दर्शन कितने बजे से कितने बजे तक होते हैं?

सुबह का समय शाम का समय
सुबह 8:00 बजे से 9:00 बजे तक शाम 4:00 बजे से 5:00 बजे तक
सुबह 9:00 बजे से 10:00 बजे तक शाम 5:00 बजे से 6:00 बजे तक
सुबह 10:00 बजे से 11:00 बजे तक शाम 6:00 बजे से 7:00 बजे तक
सुबह 11:00 बजे से 12:00 बजे तक शाम 7:00 बजे से 8:00 बजे तक

 

– विनम्र अनुरोध –

Kanhiya Mittal Entertainments के सभी उ.प्र. के उपयोगकर्ताओं से मेरा निवेदन है की,
आगामी चुनाव में अपना अमूल्य वोट गाय बचाने वालों को दे ना की उसे खाने वालों को।
सादर जय श्री राम।

Leave a Comment

error: Content is protected !!